फरीदकोट(विपन मितल): मुख्य मंत्री भगवान्त मान आज फरीदकोट दौरे पर हैं। जहां वह बाबा फरीद यूनिवर्सिटी के प्रोग्राम में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने 250 नर्सिंग स्टाफ को नियुक्ति पत्र सौंपे। उन्होंने बाबा फरीद यूनिवर्सिटी के सिल्बर जुबली प्रोग्राम पर फरीदकोट के लिए करोड़ों की विकास परियोजनाओं की सौगात दी। सी.एम मान ने जच्चा-बच्चा केंद्र का भी उद्घाटन किया। उन्होंने संबोधन करते हुए कहा कि आज के इस मुबारक मौके पर ऐतिहासिक समागम में मौजूद साथी सेहत मंत्री पंजाब बलकार सिंह, डॉ. बलजीत कौर सामाजिक न्याय, समाज भलाई, वेल्फेयर मिनिस्टर फॉर लेडी एंड चाइल्ड, एम.एल.ए. साहब सेखों, वाइस चांसलर साहिब, यूनिवर्सिटी में पढ़े पूर्व विद्यार्थी, डाक्टर्स, अलग-अलग वर्गों से संबंधित शिख्सयतें बैठी है, वह उन सबका धन्यवाद करते हैं। उन्होंने कहा कि जिन बच्चों को नियुक्ति पत्र बांटे गए हैं उन्हें पंजाब सरकार के परिवार का हिस्सा बनने का मौका मिल रहा है, उन्हें बधाई देता हैं। इस दौरान सी.एम. मान ने समारोह में संबोधित करते हुए कहा कि बाबा फरीद की धरती पवित्र धरती है। बाबा फरीद की याद में जहां मेला लगता है जिसमें लाखों की गिनती में लोग जात-पात से ऊपर उठकर नतमस्तक होने आते हैं। सी.एम. मान ने कहा कि जच्चा बच्चा केंद्र पंजाब में ही नहीं नार्थ इंडिया में एक मिसाल के तौर पर जाना जाएगा। जच्चा बच्चा केंद्र में बच्चों को आधुनिक सहूलियतें मिलेंगी। सी.एम. मान ने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि 10 हजार बच्चों ने टेस्ट दिया जिसमें 250 बच्चे सिलेक्ट हुए। इसमें न किसी की सिफारिश लेनी पड़ी न ही कोई पैसा। जो बच्चे टेस्ट में रह गए उन बच्चों का हौसला देते हुए कहा कि जो इस बार टेस्ट में पास नहीं हुए वह अपना दिल न छोड़े, अगला मौका उनका इंतजार कर रहा है। उन्होंने कहा कि अगर उन्होंने अस्पताल बनाया तो उसके लिए उन्हें स्टाफ, डाक्टर, फार्मासिस्ट चाहिए। बहुत सारे मौके उनका इंतजार कर रहे हैं।उन्होंने कहा कि कईयों ने तो एक साल में 3-3 नौकरियां ली हैं। कहीं 75 वर्षों में एक मौका भी नहीं मिलता था। उन्होंने कहा कि सफलता का एक ही रास्ता है वह है हार्ड वर्क। सी.एम. मान ने कहा कि जो आज नौकरी लेकर गए हैं ये पहली या आखिरी नौकरी नहीं है। पंजाबियों ने दुनिया में अलग पहचान बनाई है। दुनिया में कभी फेल पंजाबी नहीं मिलेंगे।

Previous articleसमाज सेवी संस्थाओं के सहयोग से बनाई गई हैँ विभिन्न टीमें
Next articleखेल व खिलाडिय़ों को प्रोत्साहित कर रही भगवंत मान सरकार : मान