दातारपुर/होशियारपुर,(राजदार टाइम्स): अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी को होने वाली है। इस विषय पर भाजपा के पूर्व सांसद एवं हिमाचल प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने कहा कि यह तारीख भारतवर्ष और सनातन संस्कृति के इतिहास की सबसे प्रतिष्ठित तारीख के रुप में स्थापित हो जाएगी। उन्होंने जारी बयान में ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि 5 सौ वर्षों से हर सनातनी मर्यादा पुरुषोत्तम राम के मंदिर की कल्पना करता रहा, पंरतु पहले विदेशी आक्रांताओं ने और आजादी के बाद कुछ राजनीतिक परिवारों द्धारा अपने आप को सेक्युलर साबित करने के प्रयासों ने देश की भावनाओं को हमेशा रौंदने का कार्य किया। भाजपा नेता अविनाश राय खन्ना ने कहा भारतीय जनता पार्टी के लिए राम केवल एक नाम नहीं अपितु संपूर्ण सनातन और भारतवर्ष की श्रद्धा का और एकता का केंद्र रहा है। जब संपूर्ण विपक्ष मर्यादा पुरुषोत्तम राम के अस्तित्व पर प्रश्नचिन्ह खड़ा कर अदालतों में वकीलों की फौज खड़ी करता था, तब भी भारतीय जनता पार्टी के लिए राम मंदिर किसी संकल्प से कम नहीं था।
उन्होंने कहा कि करोड़ों भारतीय मन में राम मंदिर की कल्पना और संकल्प को लेकर इस संसार में आए और चले गए पंरतु किसी ने उनकी भावनाओं का आदर नहीं किया। आज उन लोगों की कल्पना को साकार करने में भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि राम के नाम पर राजनीति कांग्रेस की आदत है और यही कारण है कि आज एक ओर भव्य राम मंदिर का निर्माण हो रहा है तो दूसरी तरफ कांग्रेस अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही है। उन्होंने कहा कि जो मर्यादा पुरुषोत्तम राम के अस्तित्व के खिलाफ अदालतों में हलफ नामा दाखिल करते थे, आज वो लोग अयोध्या आने के निमंत्रण पत्र का इंतजार केवल वोट की राजनीति के लिए कर रहे हैं जो अत्यंत निंदनीय और हास्यास्पद है।

Previous articleबैठक उपरांत किसान मजदूर सघर्ष कमेटी पंजाब के सदस्य
Next articleਭਾਰਤੀ ਜਨਤਾ ਪਾਰਟੀ ਦੇ ਕੌਮੀ ਜਨਰਲ ਸਕੱਤਰ ਤਰੁਣ ਚੁੱਘ