समाज के हर वर्ग के कल्याण के लिए राज्य सरकार वचनबद्ध
होशियारपुर में हुई ‘सरकार-व्यापार मिलनी’
चुप रहने वालों की बजाय पंजाब की बात करने वाले सांसदों को चुनें; मुख्यमंत्री की लोगों से अपील
सभी 13 लोकसभा सीटें जीतकर ‘आप’ के हाथ मजबूत करने को कहा
लोकतांत्रिक ढंग से चुनी गई सरकारों को तोड कर लोकतंत्र का मजाक बनाने के लिए भाजपा की आलोचना की
होशियारपुर,(राकेश राणा): पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने आशा व्यक्त की है कि ‘सरकार-व्यापार मिलनियों’ में व्यापारियों और उद्योगपतियों की सक्रिय भागीदारी से यह मिलनियां राज्य की आर्थिक प्रगति को नई ऊंचाइयों पर ले जाने में मील का पत्थर साबित होंगी। यहां सरकार-व्यापार मिलनी के दौरान संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस सरकार-व्यापार मिलनी का उद्देश्य लोगों का कल्याण सुनिश्चित करना है। उन्होंने अफसोस जताया कि पिछली सरकारों ने लोगों के कल्याण के लिए ऐसे प्रोग्राम करने की कभी परवाह नहीं की। इन नेताओं ने खुद को आलीशान महलों की दीवारों में कैद कर लिया और आम आदमी को उनके हाल पर छोड़ दिया। लोकसभा चुनाव नजदीक आने के साथ, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने मंगलवार को राज्य के लोगों से अपील की कि वह राज्य के हितों के साथ हो रहे धोखे के खिलाफ बोलने और काम करने वाले सांसदों को चुनें ,नाकि चुप रहने वालो का चुनाव करे।मुख्यमंत्री ने लोगों से वोट देने से पहले यह सोचने को कहा कि जब पंजाब के अधिकार छीने जा रहे थे तो उनके सांसद कहां थे। उन्होंने लोगों से यह सोचने को कहा कि जब पंजाब का उद्योग नष्ट हो गया और राज्य के किसान काले कृषि कानूनों के खिलाफ संघर्ष कर रहे थे तो यह सांसद चुप क्यों रहे। भगवंत सिंह मान ने कहा कि ये नेता पंजाब के लिए अहम समय पर चुप रहे। जिसके कारण वे लोगों की वोटों के हकदार नहीं हैं और उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया जाना चाहिए ताकि केवल समर्पित और वचनबद्ध लोग ही संसद के लिए चुने जाएं। पंजाब सरकार राज्य के खजाने का एक-एक पैसा लोगों के कल्याण के लिए खर्च कर रही है। भगवंत सिंह मान ने लोगों को सभी 13 लोकसभा सीटों पर आम आदमी पार्टी की जीत सुनिश्चित करने का न्योता दिया ताकि वह केंद्र सरकार की पक्षपातपूर्ण नीतियों से मुकाबला कर सकें। विकास कार्यों की गति को जारी रखने के लिए सभी 13 सीटें जीतकर आम आदमी पार्टी के हाथों को मजबूत करना चाहिए। यह 13 सांसद अपने चुनाव के बाद राज्य के विकास को गति देंगे। उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल के दूरदर्शी नेतृत्व में ‘आप’ एक राष्ट्रीय पार्टी बनी। यह काम की राजनीति में हमारे विश्वास के कारण ही संभव हुआ। हमारी पार्टी नफरत की राजनीति में विश्वास नहीं करती है। जिसके कारण लोग बड़े पैमाने पर हमारा समर्थन कर रहे हैं और हमारी पार्टी के सांसदों, विधायकों और अन्य निर्वाचित प्रतिनिधियों की संख्या बढ़ रही है। आने वाले दिनों में ‘आप’ का काफिला और बढ़ेगा क्योंकि आगामी लोकसभा चुनाव में समाज का हर वर्ग पार्टी का समर्थन करेगा।मुख्यमंत्री ने कहा कि बीजेपी ने सभी संवैधानिक मूल्यों और जनता के फतवे का उल्लंघन कर लोकतंत्र का मजाक उड़ाया है। जिन राज्यों में लोगों का फतवा बीजेपी के खिलाफ गया, वहां चुने हुए प्रतिनिधियों को खरीद कर सरकारों को भंग करने का प्रयास किया। यह बर्दाश्त करने लायक नहीं है, क्योंकि यह लोगों की एक-एक वोट का अपमान है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले 25 वर्षों में राज्य में दो लोग सत्ता में रहे है, लेकिन उनमें से किसी ने भी आम आदमी के हित के लिए बात नहीं की। इन नेताओं ने आम लोगों का खून चूसकर महल और होटल बनाए। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इन नेताओं को केवल अपने निजी लाभ की चिंता थी, जिसके चलते उन्होंने पैसा कमाने के लिए राज्य के हर व्यवसाय पर कब्जा कर लिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के मुखिया के तौर पर वह समाज के हर वर्ग के कल्याण के लिए वचनबद्ध है। उन्होंने किसानों की समस्याओं को हल करने के लिए किसानों और केंद्र सरकार के बीच एक पुल की भूमिका निभाई। राज्य के मुखिया के तौर पर यह उनका मूल कर्तव्य है और इसके लिए वह कोई कमी नहीं छोड़ेंगे।राज्य में 829 आम आदमी क्लीनिकों ने राज्य के स्वास्थ्य क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव लाया है। इन क्लीनिकों में आने वाले 95 फीसदी से ज्यादा मरीज ठीक हो चुके है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि जब से यह क्लीनिक शुरू हुए है, तबसे एक करोड़ से ज्यादा मरीज इलाज के लिए आ चुके है। यह क्लीनिक पंजाब के स्वास्थ्य देखभाल क्षेत्र को पुनर्जीवित करने में एक मील का पत्थर साबित हुए हैं। क्लीनिक में 80 तरह की दवाएं और 40 टैस्ट मुफ्त किए जा रहे है। ये क्लीनिक राज्य में किसी बीमारी से सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्रों के बारे में डेटाबेस तैयार करने में भी मददगार साबित हो रहे है।मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने राज्य में सड़क दुर्घटनाओं में बहुमूल्य जीवन की हानि को रोकने और यातायात को सुव्यवस्थित करने के लिए ‘सड़क सुरक्षा बल’ शुरू किया है। अपनी तरह का यह पहला बल राज्य में प्रतिदिन होने वाली सड़क दुर्घटनाओं में बहुमूल्य जिंदगियों को बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है और इस बल को गल्त ड्राइविंग पर अंकुश लगाने, वाहनों की उचित आवाजाही और सड़क दुर्घटनाओं को रोकने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। भगवंत सिंह मान ने बताया कि शुरुआत में 129 गाड़ियों को आधुनिक उपकरणों से लैस किया गया है और हर 30 किलोमीटर के अंतराल पर इन गाड़ियों को तैनात किया गया है। इन वाहनों में मैडीकल किट भी रखी जाती है ताकि जरूरत पड़ने पर किसी भी व्यक्ति को प्राथमिक उपचार उपलब्ध करवाया जा सके। राज्य सरकार ने पिछली सरकारों द्वारा उठायी गयी सभी बाधाओं को दूर कर दिया है। राज्य सरकार समाज के हर वर्ग के साथ बैठकें कर रही है ताकि हर पंजाबी की अधिक से अधिक मदद की जा सके। उनकी सरकार राज्य के विकास और समृद्धि को सुनिश्चित करने के लिए वचनबद्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने बिजली क्षेत्र में बड़े सुधार किये है। इस कदम से उद्योगपतियों और व्यापारियों को भी सस्ती बिजली मिलेगी। औद्योगिक प्रगति के माध्यम से राज्य की आर्थिक समृद्धि को बड़ा बढ़ावा देना समय की मांग है।

Previous articleसफाई कैंप के दौरान केएमएस कॉलेज की एनएसएस यूनिट के वॉलंटियर्स
Next articleमंत्री जिम्पा ने श्री खुलागढ़ साहिब जी के दर्शनों के लिए जाने वाली बसों को किया रवाना