मुकेरियां,(राजदार टाइम्स): शुगर मिल मुकेरियां के सामने कल से धरना प्रदर्शन कर रहे किसानों को पुलिस ने खदेड़ दिया। पुलिस कुछ प्रदर्शनकारियों को साथ ले गई है। पुलिस किसान नेताओं को कहां लेकर गई, समाचार लिखए जाने तक इसकी जानकारी नहीं हुई है। किसान नेशनल हाईवे की खोली गई एक साईड व सर्विस रोड को बंद करने लगे थे, इसी के चलते पुलिस ने बल प्रयोग किया। किसानों को वहां से खदेड़ते हुए उठा कर ले गई। हालांकि किसानों ने अपना रोष प्रदर्शन बंद नहीं किया है और गन्ने का एमएसपी बढ़ाने की मांग वे कर रहे हैं। किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के अध्यक्ष श्याम सिंह ने बताया कि सरकार द्वारा किसानों के साथ किए वादे अनुसार गन्ने का मांग अनुसार रेट नहीं बढ़ाया गया।बल्कि 11 रुपये शगुन का कहर व भद्दा मजाक किया गया है। सरकार के सामने हमारे द्वारा जो वृद्धि मूल्य रखा गया। जब तक उसे नही बढ़ाया जाता और मिल को नहीं चलाया जाता तब तक प्रदर्शन जारी रहेगा। पुलिस ने किसान नेता गुर प्रताप सिंह भैणी पसवाल, सहजदीप सिंह, साहिब सिंह जगतपुर कलां, सतनाम सिंह बागडिय़ां, सोनू औलख, अमरजीत सिंह रड़ा, गुरनाम सिंह जहानपुर, जसवन्त सिंह नवी बागडिय़ां को धरने से हटाया है। संयुक्त गन्ना संघर्ष कमेटी के नेतृत्व में दोआबा एवं माझा के विभिन्न किसान संगठनों की तरफ से गन्ना मिलें चलाने और गन्ने का भाव बढ़ाने की मांग को लेकर गत दिनों से शुगर मिल मुकेरियां के सामने धरना लगाया गया था। इसके बाद जालंधर-पठानकोट नेशनल हाईवे पर गन्ने की भरी ट्रॉलियां खड़ी कर जाम लगा किया गया था। किसान लगभग 150 से अधिक गन्ने की भरी ट्रॉलियां लेकर मिल के बाहर पहुंचे थे।

Previous articleगैंगस्टरों ने जेल में वीडियो बनाकर की सोशल मीडिया पर अपलोड
Next articleਭਾਜਪਾ ਇਕੱਲਿਆਂ ਆਪਣੇ ਬਲਬੂਤੇ ਤੇ ਚੋਣਾਂ ਲੜੇਗੀ ਤੇ ਸਾਨਦਾਰ ਜਿੱਤ ਪ੍ਰਾਪਤ ਕਰੇਗੀ : ਤਰੁਣ ਚੁੱਘ