एसएसएम कॉलेज के छात्रों ने सरहद पर जवानों संग मनाई होली
यह देश है वीर जवानों का गीत पर जवानों संग जम कर नाचे छात्र
दीनानगर,(राकेश राणा): भारत की बहुमूल्य संस्कृति में हर त्योहार का अपना महत्व है, मगर रंगों का त्योहार होली देशभर में हर अमीर गरीब पूरे हर्षोल्लास से मनाता है। इसी कड़ी में एस.एस.एम कॉॅलेज दीनानगर के प्रिंसिपल डॉ.आरके तुली के निर्देशों पर कॉलेज के हिस्ट्री विभाग के छात्रों ने प्रो.बंदना, प्रो.सुषमा व प्रो.मंजीत के नेतृत्व में बमियाल सेक्टर में भारत-पाक सीमा की जीरो लाईन पर बनी शहीद कमलजीत पोस्ट सिंबल पर पहुंच बी.एस.एफ के जवानों के साथ होली का त्योहार मनाया। सर्वप्रथम सभी छात्रों ने बी.एस.एफ की 121 बटालियन के कमांडेंट सुनील मिश्रा व जवानों के साथ शहीद नायक कमलजीत सिंह की याद में बने स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित कर उनके बलिदान को नमन् किया। शहीद सैनिक परिवार सुरक्षा परिषद के महासचिव कुंवर रविंद्र सिंह विक्की ने छात्रों को इस पोस्ट के इतिहास के बारे में बताते हुए 4 दिसंबर 1971 की भारत-पाक जंग के दौरान इस पोस्ट को बचाते हुए शहीद हुए रेडियो आपरेटर नायक कमलजीत सिंह की शौर्यगाथा सुनाई। इसके उपरांत छात्रों ने सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियों, महिला सैनिकों व जवानों के साथ होली खेलते हुए सबको गुलाल लगाया और सभी छात्रों व जवानों ने ‘यह देश है वीर जवानों का, अलबेलों और मस्तानों का, इस देश का यारो क्या कहना’ देशभक्ति से ओतप्रोत इस गीत पर जमकर भांगड़ा डाला और भारत माता की जय का जयघोष करते हुए अपनी देशभक्ति का सबूत दिया। छात्रों को संबोधित करते हुए कमांडेंट सुनील मिश्रा ने कहा कि कॉलेज के छात्रों के साथ होली का पर्व मना कर हमें बहुत खुशी हुई है। आज बेशक हमारे जवान अपने घरों से हजारों मील दूर हैं मगर आज के दिन इन छात्रों ने सरहद पर पहुंच हमारे साथ होली खेलकर हमें अपने परिवार की कमी महसूस नहीं होने दी। इससे हमारे जवानों का मनोबल ऊंचा हुआ है। इसके लिए वह कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ.आरके तुली का आभार व्यक्त करते हैं। प्रो.बंदना, प्रो.सुषमा व प्रो.मंजीत ने कहा कि सीमा सुरक्षा बल के यह जवान सीमा पर पूरी चौकसी के साथ कठिन परिस्थितियों में ड्यूटी देते हैं, तांकि देशवासी अपने घरों में सुरक्षित रहते हुए अपने परिवार के साथ हंसी खुशी होली जैसे त्योहार मना सकें। उन्होंने कहा कि सभी छात्र इन सीमा प्रहरियों को अपना रोल मॉडल बनाएं क्योंकि यह सरहद पर जागते हैं, तभी देश चैन से सोता है। इस अवसर पर बी.एस.एफ द्वारा लगाई हथियारों की प्रदर्शनी देख सभी छात्र जोश से भर उठे और सब ने संकल्प लिया कि वे भी वर्दी पहन इन सीमा प्रहरियों की तरह देश सेवा करते हुए राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान देंगे। कार्यक्रम के दौरान सीमा सुरक्षा बल द्वारा दिखाया डॉग शो सबके आकर्षण का केंद्र बना रहा जिसमें बी.एस.एफ द्वारा ट्रेंड डॉग्स के हैरतंगेज स्टंट्स ने सबका खूब मनोरंजन किया। इस अवसर पर डिप्टी कमांडेंट आलोक सिंह नेगी, कंपनी कमांडर सहायक कमांडेंट विवेक कुमार, इंस्पेक्टर अमित कुमार, इंस्पेक्टर आर.डी भुटिया, सब इंस्पेक्टर सुप्यार, ए.एस.आई राणा प्रताप सिंह, ए.एस.आई सुरेश कुमार, हेड कांस्टेबल भाखर राम, कांस्टेबल किरणदीप कौर, कांस्टेबल राबेका के सिंह, कांस्टेबल अंकुश राजपूत आदि उपस्थित थे।

Previous articleजय माँ दुर्गा धर्मार्थ सेवा सोसायटी ऊँची बस्सी के सदस्यों ने दी देश के शहीदों को श्रद्धांजलि
Next articleब्लड बैंक में रक्तदान शिविर लगाकर शहीद भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव को दी श्रद्धांजलि