नशे का परित्याग कर शहीद-ए आजम भगत सिंह को रोल माडल बनाए युवा पीढ़ी : कमांडेंट मिश्रा
भारत-पाक सरहद पर गूंजा इंकलाब जिंदाबाद का जयघोष
पठानकोट,(बिट्टा काटल): देश के महाश शहीद भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव के 93वें बलिदान दिवस पर उन्हें एक सुर में याद कर रहा है। इसी कड़ी में बमियाल सेक्टर में भारत-पाक सीमा की जीरो लाइन पर बनी सीमा सुरक्षा बल की शहीद नायक कमलजीत पोस्ट सिंबल पर 121 बटालियन के कमांडेंट सुनील मिश्रा की अध्यक्षता व शहीद सैनिक परिवार सुरक्षा परिषद के सहयोग से एक श्रद्धांजलि समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें क्षेत्र के शहीद परिवारों के अलावा परिषद के महासचिव कुंवर रविंद्र सिंह विक्की, ग्रीनलैंड पब्लिक स्कूल दीनानगर की प्रिंसिपल डॉ.ज्योति ठाकुर, चेयरमैन प्रो. रविंद्र सिंह, डिप्टी कमांडेंट आलोक सिंह नेगी, कंपनी कमांडर ए.सी विवेक कुमार, एस.एस.एम कॉलेज दीनानगर से प्रो.बंदना, प्रो.मंजीत, शहीद कर्नल के.एल गुप्ता के भाई सुरेंद्र गुप्ता, शहीद लांसनायक हरीशपाल शर्मा की माता राज दुलारी व भाई सतीश शर्मा, वीर चक्र विजेता शहीद लांसनायक मेहर सिंह के बेटे प्रवीन कुमार, शहीद सिपाही मक्खन सिंह के पिता हंस राज, शहीद सिपाही दीवान चंद की पत्नी सुमित्रा देवी, शहीद सिपाही कुलदीप कुमार के पिता बंत राम, शहीद कांस्टेबल मनदीप कुमार के पिता नानक चंद, समाज सेवक सुरिंदर महाजन शिंदा, एस.डी.ओ नरेश त्रिपाठी, सरकारी सीनियर सैकंडरी स्कूल बमियाल के मास्टर मदन लाल आदि ने विशेष मेहमान के तौर पर शामिल होकर भारत माँ के इन वीर सपूतों के बलिदान को नमन किया। सर्वप्रथम जब कमांडेंट सुनील मिश्रा व अन्य मेहमानों ने शहीद भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव की तस्वीरों के समक्ष रीथ चढ़ा सैल्यूट करते हुए भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की तो भारत-पाक सरहद पर बनी यह पोस्ट इंकलाब जिंदाबाद, भारत माता की जय के जयघोष से गूंज उठी। श्रद्धांजलि समारोह को संबोधित करते हुए कमांडेंट सुनील मिश्रा ने कहा कि आज देशवासी आजादी की जिस खुली हवा में सांस ले रहे हैं वो बहुमूल्य आजादी इन वीर सपूतों ने हमें विरासत में दी है। सभी देशवासियों का यह फर्ज बनता है कि आजादी की गरिमा को बहाल रखने के लिए शहीद-ए-आजम भगत सिंह राजगुरु, सुखदेव जैसे अमर बलिदानियों के दिखाए मार्ग पर चलें तथा युवा पीढ़ी इन्हें अपना रोल माडल बनाते हुए नशे रूपी कोढ़ का परित्याग कर आदर्श राष्ट्र की सृजना में अपना योगदान दें। इस अवसर पर इंस्पेक्टर अमित कुमार, इंस्पेक्टर आर.डी भुटिया, सब इंस्पेक्टर सुपियार, ए.एस.आई राणा प्रताप सिंह, ए.एस.आई सुखबीर सिंह, ए.एस.आई सुरेश कुमार, एच.सी भाखर राम, कांस्टेबल किरणदीप कौर, कांस्टेबल राबेका के सिंह आदि उपस्थित थे।
शहीद भगत सिंह जैसे आजादी के परवानों का देश रहेगा कर्जदार : कुंवर विक्की
कुंवर रविंद्र सिंह विक्की ने कहा कि 24 वर्ष की अल्पायु में शहीद भगत सिंह ने ब्रिटिश सरकार की चूलें हिलाते हुए जो आंदोलन शुरू किया उसने अंग्रेजों को घुटने टेकने पर विवश कर दिया और अपने साथी राजगुरु व सुखदेव के साथ फांसी का फंदा चूमते हुए अपना बलिदान देकर देशवासियों को यह संदेश दिया ‘‘खुश रहो एहले वतन अब हम तो सफऱ करते हैं’’। कुंवर विक्की ने कहा कि आजादी के इन परवानों के बलिदान का देश सदैव कर्जदार रहेगा और देशवासी शहीद भगत सिंह की सोच पर पहरा देते हुए यह संकल्प लें कि इन जैसे असंख्य क्रांतिकारियों ने अपना बलिदान देकर आजादी की बहुत बड़ी कीमत अदा की अब हमने फैसला करना है कि इस आजादी की गरिमा को कैसे बहाल रखना है। ऐसे शौर्यवीरों के पद चिन्हों पर चलना ही देश पर मर मिटने वाले इन जांबाजों को सच्ची श्रद्धांजलि है।
छात्रों द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रम देख हर आंख हुई नम
ग्रीनलैंड पब्लिक स्कूल दीनानगर, शहीद कर्नल के.एल गुप्ता सीनियर सैकंडरी स्कूल बमियाल व एस.एस.एम कालेज दीनानगर के छात्रों द्वारा प्रस्तुत देशभक्ति पर आधारित कार्यक्रम देख सबकी आंखें नम हो उठीं।
हथियारों की प्रदर्शनी व डॉग शो बना आकर्षण का केंद्र
कार्यक्रम के दौरान सीमा सुरक्षा बल द्वारा लगाई हथियारों की प्रदर्शनी देख छात्रों में ऐसा जोश पैदा हुआ कि सबने सीमा प्रहरियों की तरह वर्दी पहन देश सेवा का संकल्प लिया। इस अवसर पर डॉग शो के दौरान डॉग्स द्वारा दिखाए हैरत एंगेज स्टंटस ने सबका मन मोह लिया।

Previous articleहोली सरहद वाली…
Next articleਮਾਨ ਨੇ ਲੋਕ ਸਭਾ ਚੋਣਾਂ ਦੀਆਂ ਤਿਆਰੀਆਂ ਸਬੰਧੀ ਵਾਰਡ ਪੱਧਰ ’ਤੇ ਵਰਕਰਾਂ ਨਾਲ ਕੀਤੀ ਮੀਟਿੰਗ