कांग्रेस का घोषणापत्र खोखले वायदों और झूठ का पुलिंदा: तरुण चुघ 
चंडीगढ़,(राजदार टाइम्स) : भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुघ ने आज कांग्रेस के घोषणापत्र को एक झूठ का पुलिंदा और खोखला घोषणापत्र बताया। जिसका उद्देश्य मतदाताओं से खोखले वादे करना है। दिल्ली में वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं द्वारा कल जारी किए गए घोषणापत्र पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए चुघ ने घोषणापत्र पर प्रतिक्रिया करते हुए कहा कि इसका मुख्य उद्देश्य केवल मतदाताओं का गुमराह करने और उन्हें झूठे और खोखले वायदों का सब्जबाग दिखने के अलावा कुछ नहीं है। उन्होंने कहा, “घोषणापत्र अपने आप में ही एक मतदाताओं के साथ छलावे का संकेत करता है।” महिलाओं को सालाना एक लाख रुपये देने का कांग्रेस का वादा उतना ही अव्यवहारिक है। जितना 2019 के लोकसभा चुनावों में सभी हर साल 72,000 रुपये देने का उसका वादा। हाल के दिनों में जिन राज्यों में कांग्रेस का शासन रहा। उनमें से किसी ने भी किसानों या महिलाओं को ऐसा लाभ नहीं दिया और अब वह झूठे वादों के साथ चाँद छूने की कोशिश कर रही है। चुघ ने कहा कि देश पर 60 साल से अधिक समय तक शासन करने के बाद जब महंगाई चरम पर थी और विकास दर सबसे निचले स्तर पर थी, और आज कांग्रेस को बदलाव समझ आ रहा है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के पिछले दस साल के कार्यकाल में महंगाई दर तीन से पांच फीसदी तक कम रही और अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए आवश्यक वस्तुओं की कीमतें नियंत्रण में रहीं। मोदी सरकार की नीतियों के कारण भारत की अर्थव्यवस्था आज दुनिया की शीर्ष अर्थव्यवस्थाओं में से एक है, जबकि कांग्रेस के शासनकाल में भारत को अल्पविकसित देशों की श्रेणी में रखा जाता था। चुघ ने कहा कि घोषणापत्र की गंभीरता का आंकलन इस बात से किया जा सकता है कि उस पर प्रदर्शित तस्वीरें गलत और मनगढ़ंत और विदेशी है इससे यह भी आशंका हो सकती है कि यह घोषणा पत्र या तो भारत से बाहर छपा है या इस घोषणा पत्र को बनाने वालों का संबंध विदेश से है ।उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में देश में साक्षरता दर 60 से 75 फीसदी तक बढ़ गई है, जिससे स्पष्ट संकेत मिलता है कि भाजपा इस बार 400 का आंकड़ा पार कर केंद्र में फिर से सरकार बनाएगी।

Previous articleलोक सभा क्षेत्र निवासी तक हर सुविधाओ को पहुंचाना ही है मेरा एक मात्र लक्ष्य : डॉ.राज कुमार
Next articleदेश की एकता, अखंडता तथा खुशाली भाजपा का मुख्य एजेंडा: हरदेव सिंह उभ्भा