भारतीय सेना का अभिन्न अंग है हमारे पूर्व सैनिक व वीर नारियां : मेजर जनरल गौरव गौतम
21 सब एरिया ने वेटरंस डे पर करवाई मेगा रैली
पूर्व सैनिकों की 19 नॉन पेंशनर विधवाओं व 4 पूर्व सैनिकों को भेंट किए 21-21 हजार रुपए के चेक
पूर्व सैनिकों व उनके परिजनों को भेंट की गई इलेक्ट्रिकल व्हील चेयर
पठानकोट,(रणधीर काटल): भारतीय सेना द्वारा देशभर में सात स्थानों पर वेटरंस डे मनाया गया। वहीं वेस्टरन कमांड द्वारा 21 सब एरिया के सहयोग से वेटरंस डे पर मिलिट्री स्टेशन में एक मेगा रैली का आयोजन 21 सब एरिया कमांडर ब्रिगेडियर मनीष अरोड़ा की अगवाई में करवाया गया। जिसमें जी.ओ.सी 26 इन्फेंट्री डिव के मेजर जनरल गौरव गौतम बतौर मुख्य मेहमान के तौर पर शामिल हुए। इनके अलावा जिलाधीश हरबीर सिंह, 104 साल के वेटरन ऑनरेरी कैप्टन रोमाल सिंह पठानिया, रिटायर्ड मेजर जनरल एस.के खजूरिया, रिटा. ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह, रिटा.ब्रिगेडियर प्रह्लाद सिंह, कर्नल वेटरन हमिंदर सिंह, कर्नल (ए) टी.के तिवारी, शहीद सैनिक परिवार सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष व बिदानी लेफ्टिनेंट गुरदीप सलारिया शौर्य चक्र के पिता कर्नल सागर सिंह सलारिया, शहीद मेजर विवेक भंदराल के पिता कर्नल पी.एस भंदराल, कर्नल आर.के सलारिया, ब्रिगेडियर व कर्नल रैंक के अन्य सैन्य अधिकारी, परिषद के महासचिव कुंवर रविंदर सिंह विक्की, प्रेस सचिव बिट्टा काटल के अलावा पंजाब, जम्मू-कश्मीर व हिमाचल प्रदेश से ढाई हजार के करीब पूर्व सैनिकों, वीर नारियों ने भाग लेकर कार्यक्रम की गरिमा को बढ़ाया। सर्वप्रथम स्थानीय पराक्रम स्थल पर रीथलिंग सेरेमनी की गई। जिसमें 21 सब एरिया कमांडर ब्रिगेडियर मनीष अरोड़ा के अलावा ए.ओ.सी ए.एस अभ्यंकर वायु सेना मेडल ने विशेष तौर पर शामिल होकर देश पर मर मिटने वाले अमर वीरों के बलिदान को रीथ चढ़ा सैल्यूट किया तथा सेना के जवानों ने शस्त्र उल्टे कर बिगुल की गौरवशाली धुन के साथ शहीदों को सलामी दी। इसके उपरांत आयोजित मेगा रैली को संबोधित करते हुए मुख्यातिथि मेजर जनरल गौरव गौतम ने कहा कि पूर्व सैनिक, वीर नारियां व शहीदों के परिजन भारतीय सेना का अभिन्न अंग हैं सेना हमेशा इन्हें अपने परिवार का हिस्सा मानती है। उन्होंने कहा इनके किए भारतीय सेना के दरवाजे हमेशा खुले हैं तथा वह सब अपनी समस्या को लेकर किसी भी यूनिट में जा सकते हैं। जहां उन्हें पूरा सम्मान दिया जाएगा क्योंकि देश की प्रगति में पूर्व सैनिकों का बहुमूल्य योगदान है। जिसे कभी भी भुलाया नहीं जा सकता।
सेना व राष्ट्र निर्माण में पूर्व सैनिकों का योगदान सराहनीय : ब्रिगेडियर अरोड़ा
21 सब एरिया कमांडर ब्रिगेडियर मनीष अरोड़ा ने इसआम्र्ड फोर्सेज वेटरंस डे पर आयोजित इस मेगा रैली के सफल आयोजन के किए पूर्व सैनिकों व वीर नारियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि वह सेना के प्रति आपकी कर्तव्यनिष्ठा व जोश को सैल्यूट करते हैं जिन्होंने भीषण सर्दी के बावजूद इस मेगा रैली को सफल बना हमारे मनोबल को बढ़ाया है। उन्होंने कहा के सेना व राष्ट्र निर्माण में पूर्व सैनिकों का योगदान सराहनीय है। उन्होंने कहा कि इस समारोह में पंजाब, हिमाचल व जम्मू-कश्मीर तीनों राज्यों के सैनिक बोर्डों, ईसीएचएस, पीसीटी इलाहाबाद के अधिकारियों ने पूर्व सैनिकों को कई नई योजनाएं के बारे में जानकारी दी है। वहीं पूर्व सैनिकों के वेलफेयर के लिए कई तरह के स्टाल्स भी लगाए गए हैं। सब एरिया कमांडर ने कहा कि हम वेटरंस की हर समस्याओं प्राथमिकता आधार पर हल करने हेतु वचनबद्ध हैं।
सेना ही सही मायनों में करती है पूर्व सैनिकों व बलिदानी परिवारों का सम्मान : डीसी हरबीर सिंह
डीसी हरबीर सिंह ने कहा कि आज की यह मेगा रैली का सफल अयोजन इस बात का सबूत है कि हमारी सेना सही मायनों में अपने पूर्व सैनिकों व बलिदानी परिवारों का दिल से सम्मान करती है तथा इस कार्यक्रम का हिस्सा बन मैं खुद को गौरवांवित महसूस करता हूँ।
गर्व है 40 साल सेना रूपी ऑर्गेनाइजेशन का हिस्सा रहा : मेजर जनरल खजूरिया
सीनियर वेटरन मेजर जनरल एस.के खजूरिया ने इस मेगा रैली के सफल आयोजन के लिए वेस्टरन कमांड व 21 सब एरिया का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मुझे इस बात का गर्व है कि मैं 40 वर्ष सेना रूपी ऑर्गेनाइजेशन का हिस्सा रहा हूँ जो आज भी मेरी और मेरे परिवार की देखभाल कर रही है। शायद दुनिया की कोई ऑर्गनाइजेशन ऐसी हो जो अपने पूर्व सैनिकों, वीर नारियों व शहीद परिवारों का सम्मान करती हो।
104 साल के वेटरन का हुआ सम्मान
मुख्य अतिथि मेजर जनरल गौरव गौतम, सब एरिया कमांडर ब्रिगेडियर मनीष अरोड़ा द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित 104 वर्षीय वेटरन ऑनरेरी कैप्टन रोमाल सिंह पठानियां जो हिमाचल के राज्यतलाव से विशेष तौर पर पहुंचे थे को समानित करते हुए इस उम्र में भी उनके इस जोश की सराहना की। इनके अलावा इस अवसर पर मुख्यातिथि द्वारा 19 नॉन पेंशनर पूर्व सैनिकों की विधवाओं व 4 पूर्व सैनिक जिन्हें कम नौकरी की वजह से पेंशन नहीं मिलती को 21-21 हजार रुपए की राशि के चेक भेंट किए गए। वहीं पूर्व सैनिकों व उनके परिजनों को 3 ईलेक्ट्रिकल व्हील चेयर भी भेंट की गई।

Previous article18 जनवरी को करेंगे बड़े स्तर पर रोष प्रदर्शन : मनजीत सिंह दसूहा
Next articleअयोध्या धाम से महंत वैंकटेश्वर पुरी को मिला निमंत्रण