अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद प्रदेश में गुणवत्तापूर्वक शिक्षा एवं जीवंत परिसर के साथ स्वस्थ जीवनशैली व पर्यावरण सरक्षणं को लेकर करेगी कार्य : राहुल राणा
चंडीगढ़,(राजदार टाइम्स): अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का 69वाँ राष्ट्रीय अधिवेशन 7-10 दिसंबर को देश की राजधानी दिल्ली के इंद्रप्रस्थ नगर में संपन्न हुआ था। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय मंत्री राहुल राणा ने यहां आयोजित एक प्रेस वार्ता में बताया कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद अपनी संगठनात्मक यात्रा का ‘अमृत महोत्सव वर्ष’ (75वाँ वर्ष) मना रही है। इस अधिवेशन में देश भर से लगभग 10 हजार से अधिक छात्र छात्राएं प्रतिनिधि के तौर उपस्थित रहे। इस अधिवेशन में 8 थीमों पर आधारित और 9 सेक्शन में रची दत्ताजी डिडोलकर प्रदर्शनी को देशभर के अलग-अलग शैक्षणिक संस्थानों के विद्यार्थियों द्वारा बनाया गया। प्रदर्शनी में शिवाजी महाराज के राज्याभिषेक की 350 वीं वर्षगांठ पर उनकी शौर्यगाथा, विश्वगुरु भारत, स्वाधीनता का अमृत महोत्सव, अभाविप के विभिन्न आयामों और गतिविधियों द्वारा किये जा रहे कार्यों, दिल्ली का वास्तविक इतिहास, दिल्ली में हुए प्रमुख छात्र आंदोलन एवं अभाविप के 75वर्षों की ध्येय यात्रा को प्रदर्शित करने का प्रयास किया गया । उन्होंने बताया कि अधिवेशन के उद्घाटन समारोह में केंद्रीय गृह मंत्री माननीय अमित शाह जी मुख्य अतिथि के रूप में रहे। गृहमंत्री अमित शाह ने राष्ट्रीय अधिवेशन को संबोधित करते हुए कहा कि युवा अपनी ऊर्जा को रचनात्मक कार्य में अर्पित करें। देश के लिए जान देने की नहीं, देश के लिए जीने की जरूरत है। राष्ट्रीय मंत्री राहुल राणा ने बताया कि अधिवेशन में प्रा.यशवंतराव केलकर युवा पुरस्कार समारोह के मुख्य अतिथि इंडिया टी वी के संपादक रजत शर्मा द्वारा कम आय एवं वंचित वर्ग के भारतीय युवाओं को वैश्विक स्तर की शिक्षा प्राप्त करने में सक्षम बनाने हेतु’ शरद विवेक सागर (पटना, बिहार), ‘श्रीअन्न (मिलेट्स) के संरक्षण व संवर्धन के मौलिक कार्य हेतु’ सुश्री लहरीबाई पडिया (डिंडोरी, मध्य प्रदेश) तथा ‘दिव्यांगों के जीवनस्तर को बेहतर और आत्मविश्वास युक्त बनाने के लिए’ डॉ वैभव भंडारी (पाली, राजस्थान) को प्रा.यशवंतराव केलकर युवा पुरस्कार प्रदान किया गया। प्रेस वार्ता में राष्ट्रीय मंत्री राहुल राणा ने बताया कि 69 वें राष्ट्रीय अधिवेशन व राष्ट्रीय कार्यकारी परिषद बैठक में कुल 6 प्रस्ताव पारित किए गए और उस पर अमल करने की दिशा में काम शुरू हो गया है। उन्होंने बताया, प्रस्ताव में स्वस्थ जीवन शैली अपनाएं युवा, विवेकशील विकास पर्यावरण संतुलन आवश्यक, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा एवं जीवंत परिसर के लिए ठोस कदम उठाए जाएं। साथ ही वैश्विक कल्याणकारी भारतीय कूटनीति शीर्षक सहित 4 प्रस्ताव राष्ट्रीय अधिवेशन तथा राष्ट्रीय कार्यकारी परिषद की बैठक में पारित हुए। वहीं, भारतीय ‘स्व’ व स्वाभिमान का प्रतीक श्री राममंदिर तथा नारी शक्ति वंदन अधिनियम एक ऐतिहासिक पहल शीर्षक 2 प्रस्ताव भी पारित किए गए। ऐसे कुल 6 प्रस्तावों पर चर्चा उपरांत पारित किए गए । उन्होंने बताया कि विद्यार्थी परिषद ने वर्तमान में देश के शिक्षा, पर्यावरण सहित विभिन्न क्षेत्रों में सकारात्मक बदलाव में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए विद्यार्थियों की सहभागिता के लिए आह्वान किया है। विद्यार्थी परिषद देश के युवाओं के हित में केंद्र व राज्यों में विभिन्न पदों की रिक्तियां जल्द भरने का आह्वान किया है। आगामी वर्ष में विद्यार्थी परिषद इन मुद्दों पर और तेज प्रयास करेगी। प्रदेश मंत्री मनमीत सोहल ने बताया कि महाविद्यालयों से कम हो रही छात्रों की संख्या पर काम करते हुए परिसर चलो अभियान पर मुख्य रूप से विद्यार्थी परिषद काम करेगी। आगामी कार्यक्रमों को लेकर उन्होंने कहां कि एबीवीपी 24 से 28 दिसंबर तक प्रदेश भर में सिखों के दसवें गुरु श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के चार साहिबजादे व माता जी की शहीदी को याद करते हुए लंगर और धार्मिक कार्यक्रम आयोजित करेगी तथा 12 जनवरी से स्वामी विवेकानंद के जन्म दिवस के उपलक्ष्य में युवा में पखवाड़ा चलाया जाएगा। 15 दिनों तक लगातार सृजनात्मक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। आने वाले समय में विद्यार्थी परिषद पंजाब में छात्र संघ की बहाली के लिए आंदोलन करेगी। प्रेस वार्ता में महानगर मंत्री चंडीगढ़ ईशु चौधरी, पंजाबी विश्वविद्यालय इकाई अध्यक्ष रजत पुरी व प्रांत छात्रा सह प्रमुख शिवांगी भारद्वाज उपस्थित रहे।

Previous articleਜਾਣਕਾਰੀ ਦਿੰਦੇ ਹੋਏ ਮੈਨੇਜਰ ਸਰਬਜੀਤ ਸਿੰਘ ਮੋਮੀ ਤੇ ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਅਮਨਦੀਪ ਕੌਰ ਢਿੱਲੋ
Next articleविजेताओ को ईनाम देते हुए मंत्री बलकार सिंह, विधायक जसवीर राजा व अन्य