बाबा तरसेम की हत्या में वाशिंत था हत्यारा
दूसरा रात के अंधेरे में भागा, पुलिस व बदमाशों में हुई मुठभेड़
पुलिस कर रही है मामले की जांच
हरिद्वार,(राजदार टाइम्स ब्यूरो): सोमवार-मंगलवार देर रात जिले के थाना भगवानपुर क्षेत्र के अन्र्तगत चैकिंग अभियान के तहत मोटर साईकिल पर सवार हो कर दो व्यक्ति आते दिखे। जिन्हें पुलिस ने रूकने का इशारा किया तो वह पुलिस को देखते ही घबरा कर कलियर की तरफ भाग गाए। पुलिस ने शक होने पर मोटर साईकिल सवार दोनों व्यक्तियों का पीछा किया तो उक्त दोनों ने पुलिस पर फायर किया। जिस पर पुलिस व बदमाशों में मुठभेड़ हो गई। जिससे एक बदमाश को गोली लग गई व एक रात के अंधेरे में भागने में कामयाब हो गया। पुलिस द्वारा घायल बदमाश को रूडक़ी के सिविल आस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां डाक्टरों ने घायल बदमाश को मृत घोषित कर दिया गया। उधर मौके से भागे दूसरे बदमाश की तलाश की जा रही है। जिला पुलिस कप्तान प्रमेन्द्र सिंह डोबाल अपने अन्य अधिकारियों के सेथ आस्पताल पहुँचे व सारे मामले की जानकारी ली। पुलिस सूत्रों अनुसार मृत्क की पहिचान अमरजीत सिंह उर्फ बिट्टू पुत्र सुरेन्द्र सिंह निवासी फतेहगढ़ चूढिय़ां रोड़ नगली भट्ट अमृतसर के रूप में हुई है। याद रहे कि अमरजीत सिंह उर्फ बिट्टू वही हत्यारा हैं, जिसका नाम उत्तर प्रदेश के उधमसिंह नगर में स्थित नानकमत्ता गुरूद्वारा साहिब डेरा के कारसेवा प्रमुख बाबा तरसेम सिंह की हत्या में आया था तथा वह UP पुलिस को वाशिंत था। हत्या के बाद से अपने साथी के साथ फरार चल रहा था। पुलिस सारे मामले की जांच कर कार्यवाही कर रही है। जबकि विस्तृत जानकारी की प्रतिक्षा की जा रही है। गौर हो कि नानकमत्ता गुरूद्वारा साहिब डेरा के कारसेवा प्रमुखबाबा तरसेम सिंह की मोटर साईकिल सवार दो हत्यारों ने हत्या कर दी थी। पुलिस जांच में शूटरों की पहचान पंजाब के तरनतारण निवासी सर्वजीत सिंह व नगली, फतेहगढ़ चूढिय़ां रोड़ थाना कम्मों, जिला अमृतसर निवासी अमरजीत सिंह उर्फ बिट्टू उर्फ गंडा पुत्र सुरेन्द्र सिंह के रूप में हुई थी। हत्य के बाद से हत्यारे फरार हो गए थे, पुलिस लगातार उनका पिछा कर रही थी।

Previous articleप्रवासी भारतीय सोनी बादलिया व रोजी बादलिया ने डीएवी सीनियर सेकेंडरी स्कूल के विद्यार्थियों को बांटी स्टेशनरी
Next articleगेजा राम वाल्मिकी को लोकसभा प्रत्याशी बनाने की उठी मांग