जिले में अब तक पराली को आग लगाने की घटनाओं में पिछले वर्ष के मुकाबले आई 77 प्रतिशत गिरावट : कोमल मित्तल
किसानों को पराली को आग न लगा कर वातावरण बचाने की अपील की
गांव नरियाला के किसान हरविंदर सिंह ने सुपर सीडर के मदद से 100 एकड़ में पराली को बिना आग लगाए की गेहूं की बिजाई
होशियारपुर,(राजदार टाइम्स): डिप्टी कमिश्नर कोमल मित्तल ने बताया कि वातावरण को बचाने व राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेशों का पालन करने के लिए जिला प्रशासन व कृषि विभाग की ओर से लगातार किसानों को अलग-अलग प्रयासों के साथ पराली के सुचारु प्रबंधन के बारे में जागरुक किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 3 नवंबर 2023 तक जिले में पंजाब रिमोट सैंसिंग सैंटर लुधियाना की ओर से कुल 50 स्थानों पर आग की घटनाओं को दर्ज किया गया है, जबकि पिछले वर्ष 2022 में उक्त तिथि तक 222 घटनाएं दर्ज की गई थी। उन्होंने बताया कि 3 नवंबर तक आग लगने की घटनाओं में पिछले वर्ष के मुकाबले 77 प्रतिशत गिरावट आई है।
इसी कड़ी में डिप्टी कमिश्नर कोमल मित्तल की ओर से जिले में पराली प्रबंधन के कार्यों संबंधी जायजा लिया गया। उन्होंने ब्लाक माहिलपुर के गांव नरियाला का दौरा किया, जहां उन्होंने किसानों को पराली को आग न लगाकर इसको अलग-अलग तरीकों के साथ प्रबंधन करने की अपील की। इस मौके पर उन्होंने उन किसानों के खेतों का भी दौरा किया, जिनकी ओर से पराली को बिना आग लगाए इसका खेत में सुपर सीडर की मदद से प्रबंधन कर गेहूं की बिजाई की जा रही है। मौके पर उपस्थित किसान हरमिंदर सिंह, जिसकी ओर से इलाके के किसानों के खेतों में पराली प्रबंधन किया जा रहा है, ने बताया कि उसकी ओर से अपने सुपर सीडर की मदद से अन्य किसानों को वाजिब रेट पर गेहूं की बिजाई पराली को बिना आग लगाए की जा रही है व उसकी ओर से करीब 100 एकड़ में किसानों की इस विधि से बिजाई की जा चुकी है।
कोमल मित्तल ने किसानों को आने वाले दिनों के दौरान भी पराली को बिल्कुल भी आग न लगाने की अपील करते हुए अपने जिले में मौजूद मशीनरी की मदद से इसका योग्य प्रबंधन करने पर जोर दिया। उन्होंने समूह कृषि विभाग के अधिकारियों को किसानों की हर संभव मदद व खेतों के लगातार दौरे के निर्देश दिए ताकि जिले में पराली को आग लगाने की घटनाएं न हो। एस.डी.एम गढ़शंकर प्रीतइंदर सिंह बैंस व कृषि विकास अधिकारी डॉ.हरप्रीत सिंह ने किसानों को ब्लाक में स्थापित कस्टम हायरिंग सैंटर में उपलब्ध पराली प्रबंधन मशीनरी का अधिक से अधिक लाभ लेने की अपील की व किसानों को जिला प्रशासन के पराली प्रबंध अभियान में भरपूर साथ देने की उम्मीद जताई। इस मौके पर इलाके के किसान कुलदीप सिंह, जसवीर सिंह, दविंदर सिंह, गुरप्रीत सिंह, ओंकार सिंह, बलजिंदर सिंह, राजवीर सिंह, मनवीर सिंह, मोता सिंह नंबरदार, बलजीत सिंह, बलिहार सिंह आदि भी मौजूद थे।

Previous articleविजिलेंस ब्यूरो ने मैडिकल स्टोरों पर लगाए भ्रष्टाचार विरोधी जागरुकता पोस्टर
Next articleਵਿਧਾਨ ਸਭਾ ਹਲਕਾ ਚੱਬੇਵਾਲ ਦੇ ਪਿੰਡ ਬਸੀ ਕਲਾਂ ਵਿਖੇ ਬਵੇਂ ਬਣੇ ਪੁਲ ਦਾ ਉਦਘਾਟਨ ਕੀਤਾ ਵਿਧਾਇਕ ਰਾਜ ਕੁਮਾਰ ਨੇ