सेंट मेरी स्कूल में खेल मेले में बच्चों ने दिखाई प्रतिभा
खेलों से अनुशासन की भावना का विकास : पूजा शर्मा
दातारपुर,(एसपी शर्मा): सेंट मेरी स्कूल भटोली दातारपुर में सालाना खेलकूद उत्सव का आयोजन बड़े उत्साह से किया गया। एमडी महेश शर्मा व प्रिंसिपल पूजा शर्मा की देखरेख में बच्चों ने खेल कूद के साथ सांस्कृतिक कार्यक्रम में भी अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। बच्चों ने कबड्डी, खो-खो, बैडमिंटन, वालीबाल, शतरंज व दौड़ में शामिल होते हुए माहौल को जोश से लबरेज कर दिया। डॉ.महेश शर्मा एमडी ने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि विद्यार्थी जीवन में विद्या अध्ययन के साथ खेलने से हमारा तन-मन व दिमाग तंदुरुस्त रहता है, शरीर में स्फूर्ति और ऊर्जा का संचार होता है। जब बच्चा खेलों में भाग लेता है तो उनमें सामाजिक कौशल का बहुत अच्छा विकास होता है। खेलों के दौरान बच्चा अन्य बच्चों से मिलता है और उनसे बातचीत करता है। यह उसके समाजिक कौशल के विकास में सहायक होता है। प्रिंसिपल पूजा शर्मा ने कहा कि टीम वर्क में बच्चा सीखता है कि किस प्रकार टीम की विजय में योगदान दिया जा सकता है। प्रथम ने कहा जब बच्चें किसी भी तरह का कोई खेल खेलते है तो उनके शारीरिक गतिविधि तो होती ही है। साथ में उनके मस्तिष्क का विकास होता भी है जो आपके बच्चे को जल्दी सीखने और बढऩे में सहायक होता है। प्रिंसिपल पूजा शर्मा ने कहा कि खेल या अन्य शारीरिक गतिविधियों से मांसपेशियों का विकास होता है। स्वस्थ हड्डियों और मांसपेशियों के अच्छे विकास के लिए आपको बच्चे को किसी भी तरह का खेल खेलने के लिए उत्साहित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब बच्चा खेलों में भाग लेता है तो बच्चे की ठॢअम शक्ति बढ़ती है। इसके अलावा बच्चे को खुली हवा में छोडऩा अच्छा होता है ताकि उसे अपने आस-पास के माहोल का भी पता लगेगा। उन्होंने कहा कि बच्चों को बताना चाहिए कि जीतना व हारना जीवन का हिस्सा है तथा आपका बच्चा इसे खेल की उन गतिविधियों के माध्यम से सीखता है, जिसमें वह हिस्सा लेता है। इस अवसर पर प्रिंसिपल पूजा रानी, सोनिया, नेहा शर्मा, अरूणा, जीवन दायिनी, सपना तथा अन्य लोग भी उपस्थित थे।

Previous articleनशे से दूर, बनेंगे योग्य नागरिक लिया संकल्प
Next articleमहंत वैंकटेश्वर पुरी महाराज पौधारोपण करते हुए