रक्तदान का कार्य बड़ा सराहनीय कार्य, समाज कल्याण का मूल मंत्र ही एक दूसरे का साथ देना : चंचला नरंग
मुकेरियां,(राजदार टाइम्स): स्वामी प्रेमानंद महाविद्यालय मुकेरिया के एनएसएस विभाग ने एचडीएफसी बैंक के सौजन्य से इनर व्हील क्लब संस्था के साथ मिलकर कॉलेज में रक्तदान शिविर का आयोजन करवाया। कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ.समीर शर्मा ने बताया कि लगभग 55 विद्यार्थियों ने मानवीय कल्याण के इस महाकुंभ को अपने रक्त का दान देकर सफल बनाया। प्रबंधकीय समिति के वरिष्ठ उपाध्यक्ष अजीत नारंग इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित हुए। कॉलेज प्रबंधन समिति के सचिव संजीव आनंद एवं इनर व्हील क्लब की अध्यक्षा श्रीमति चंचल नारंग विशेष अतिथि के रूप में सम्मिलित हुए। कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ.समीर शर्मा ने अतिथियों का स्वागत पुष्पगुच्छ देकर किया। प्रिंसिपल डॉ.समीर शर्मा ने कहा कि रक्तदान महादान है और हम रक्तदान करके किसी के भी जीवन को बचा सकते है। प्रबंधन समिति की ओर से अजीत नारंग ने अपने आशीर्वचन में सभी छात्रों को बधाई दी। छात्रों को रक्तदान जैसे महान कार्य के लिए प्रशंसा की। कॉलेज के सचिव संजीव आनंद ने भी आयोजक विभाग को बधाई देते हुए छात्रों को रक्तदान के महत्व के विषय में बतलाया। श्रीमति चंचल नारंग ने अपने वक्तव्य में कहा कि यह रक्तदान का कार्य बड़ा सराहनीय कार्य है। समाज कल्याण का मूल मंत्र ही एक दूसरे का साथ देना है। आयोजक एनएसएस इंचार्ज डॉ.सोनिया शर्मा ने इस अवसर पर अतिथि गण का धन्यवाद किया। रक्तदान शिविर के आयोजन में विशिष्ट सहयोग के लिए कॉलेज की प्रबंधकीय समिति और प्राचार्य डॉ.समीर शर्मा का विशेष रुप से आभार व्यक्त किया। इसके साथ-साथ उन्होंने इनर व्हील क्लब की अध्यक्षा श्रीमति चंचल नारंग व क्लब के अन्य सदस्य डिंपल सलारिया, अनीता जैन, रेनू अग्रवाल, सुरुचि अग्रवाल, रेनू विनीत अग्रवाल, चैरी, हरमिंदर सैनी का भी हृदय से आभार व्यक्त किया।
एनएसएस के छात्रों ने बनाए रक्त दान संबंधी चार्ट
एनएसएस के छात्रों द्वारा रक्त दान संबंधी चार्ट भी बनाए गए। एनएसएस इंचार्ज डॉ.प्रदीप सेंगर, डॉ.जसमिंदर सिंह, डॉ.अशोक चौधरी, प्रो.बिक्रमजीत सिंह, प्रो.शायना परमार, डॉ.अमरिंदर कौर व प्रो.शिवम भी विशिष्ट रूप से उपस्थित हुए।

Previous articleविजेता टीम के साथ सचिव रमन घई, कुलदीप धामी, दलजीत सिंह, दलजीत धीमान व अन्य
Next articleਹੁਣ ਤੱਕ ਜ਼ਿਲ੍ਹੇ ਅੰਦਰ 1450 ਡੇਂਗੂ ਅਤੇ 292 ਚਿਕੱਨਗੁਨੀਆ ਦੇ ਕੇਸ ਆਏ ਸਾਹਮਣੇ: ਡਾ.ਜਗਦੀਪ ਸਿੰਘ