बहुसंख्यक देशभक्त क्षत्रिय कौम को वोट बैंक न समझें राजनीतिक पार्टियां : तंवर/चाढक़
कहा, लोकसभा चुनावों में राजनीतिक पार्टियों को महंगी पड़ेगी राजपूतों की अनदेखी
पंजाब, हिमाचल, हरियाणा व जम्मू-कश्मीर से राजपूत सभाओं के प्रतिनिधि हुए अधिवेशन में शामिल
मनवाल/पठानकोट,(राकेश राणा): क्षत्रिय समाज को एकता के सूत्र में पिरोने हेतु अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा पंजाब का एक दिवसीय अधिवेशन गांव मनवाल स्थित एक पैलेस में महासभा के चेयरमैन ठाकुर दविंदर सिंह दर्शी व पंजाब के अध्यक्ष डिंपल राणा की संयुक्त अध्यक्षता में आयोजित किया गया। जिसमें अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर मोहिंदर सिंह तंवर व डोगरा सदर सभा जम्मू-कश्मीर के अध्यक्ष, पूर्व मंत्री व अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के सरपरस्त ठाकुर गुलचैन सिंह चाडक़ बतौर मुख्य मेहमान शामिल हुए। इनके अलावा पूर्व डिप्टी स्पीकर ठाकुर दिनेश सिंह बब्बू, सलारिया जनसेवा फाउंडेशन व द व्हाइट मेडिकल कालेज तथा हॉस्पिटल के चेयरमैन स्वर्ण सिंह सलारिया, शहीद सैनिक परिवार सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष कर्नल सागर सिंह सलारिया, महासचिव कुंवर रविंदर सिंह विक्की, प्रेस सचिव बिट्टा काटल, अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा पंजाब के उपाध्यक्ष ठाकुर साहब सिंह साबा, जिलाध्यक्ष कारपोरेटर ठाकुर विक्रम सिंह विक्कू, मार्किट कमेटी के पूर्व चेयरमैन ठाकुर भानु प्रताप सिंह, राजपूत महासभा लोकसभा हलका गुरदासपुर के अध्यक्ष कुंवर संतोख सिंह, राजपूत करणी सेना पंजाब के अध्यक्ष राणा नरोत्तम सिंह साबा, चौधरी राजबीर, जालंधर से स्माल स्केल इंडस्ट्री पंजाब के पूर्व चेयरमैन राणा रघुनाथ सिंह, हिंदू सुरक्षा समिति पंजाब के चेयरमैन ठाकुर सुरिंदर मन्हास, राजपूत सभा नूरपुर के अध्यक्ष मनोज पठानिया, महासचिव राजीव पठानिया, कारपोरेटर रजनी मन्हास व सुनीता देवी, बलिदानी मेजर विवेक भंदराल के पिता कर्नल पी.एस भंदराल, जोगिंदर सलारिया, कंवर रोहित ठाकुर, मुंबई से ठाकुर सुभाष सलारिया, पम्मी पठानिया, महाराणा प्रताप राजपूत सभा लुधियाना के अध्यक्ष ठाकुर राकेश मन्हास, अम्बाला व कुरुक्षेत्र से क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष ठाकुर सुखदेव चौहान व अमित कुमार, चंडीगढ़ से ठाकुर जैमल सिंह, राजपूत महासभा गुरदासपुर के अध्यक्ष ठाकुर राम सिंह, सचिव ठाकुर विजय सिंह सलारिया, महाराणा प्रताप यूथ क्लब सम्मूचक्क के अध्यक्ष ठाकुर बाबू राम, चौधरी राजेश्वर सिंह, चौधरी सज्जन सिंह, छगन सिंह राठौर के अलावा पंजाब, हिमाचल, जम्मू-कश्मीर, हरियाणा, चंडीगढ़ की राजपूत सभाओं के मुख्य प्रतिनिधियों सहित लोकसभा हलका गुरदासपुर के 200 गांवों के पंचों सरपंचों तथा अन्य सदस्यों ने काफी संख्या में हिस्सा लेकर अपनी एकता का सबूत दिया। सर्वप्रथम अधिवेशन में शामिल सभी सदस्यों ने राष्ट्रीय करनी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी जिनकी कुछ दिन पहले जयपुर में उनके निवास स्थान पर हमलावरों ने हत्या कर दी के अलावा महासभा के पुराने कार्यकर्ता ठाकुर रविंदर सिंह रवि, कार्यकारिणी सदस्य ठाकुर शमशेर सिंह बिट्टू की माता धर्मी देवी की आत्मिक शांति हेतु 2 मिनट का मौन रखा गया। उसके उपरांत आए मेहमानों ने वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप के चित्र समक्ष पुष्पांजलि अर्पित कर कार्यक्रम का आगाज किया। समारोह को संबोधित करते हुए ठाकुर मोहिंदर सिंह तंवर ने कहा कि संगठित कौमें ही राष्ट्र निर्माण में अहम भूमिका निभाती हैं। आज तक सभी राजनीतिक पार्टियों ने देशभक्त क्षत्रिय कौम को मात्र वोट बैंक समझा है तथा किसी ने भी इस बहुसंख्यक बिरादरी को उचित प्रतिनिधित्व नहीं दिया जिससे सारे क्षत्रिय समाज में रोष की लहर व्याप्त है। उन्होंने कहा कि लोकसभा हलका गुरदासपुर जहां 4 लाख के करीब क्षत्रियों के वोट हैं तथा इस बार के लोकसभा चुनावों में कोई भी राजनीतिक पार्टी राजपूत बिरादरी को हलके में न ले और जो भी पार्टी हमारे किसी भी भाई को टिकट देगी सारा क्षत्रिय समाज देश भर में उस पार्टी का सहयोग करेगा। मोहिंदर सिंह तंवर ने कहा चार राज्यों में हाल ही में हुए विधानसभा के चुनावों में किसी भी राजनीतिक पार्टी ने राजपूतों को उचित प्रतिनिधित्व नहीं दिया जिसे लेकर समूह क्षत्रिय समाज में रोष है। उन्होंने कहा जातिगत आरक्षण देश के लिए घातक है तथा इसके खिलाफ अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा देश भर में 3 रथयात्राएं निकाल सरकार पर आरक्षण आर्थिक आधार पर लागू करने का दवाब बना चुकी है। उन्होंने कहा अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा हमेशा सामाजिक समरस्ता की पक्षधर रही है। इस अवसर पर कर्नल सर्वजीत सलारिया, कैप्टन फकीर सिंह, चौधरी अर्जुन सिंह, सूबेदार सुदर्शन सलारिया, ठाकुर संदीप मन्हास, ठाकुर केशव सिंह धार, ब्लॉक समिति दीनानगर के चेयरमैन ठाकुर जगतार सिंह काका, ठाकुर अवतार सिंह जैनी, राजिंदर सिंह जिंदा, भानू ठाकुर, बलबीर सूर्यवंशी, ठाकुर राजिंदर सिंह भिल्ला, ठाकुर राजिंदर सिंह साबा काटल, सुरिंदर काटल, हीरा सिंह, ठाकुर करनैल सिंह जग्गी, ठाकुर केवल सिंह, नंबरदार युवराज सिंह डिंपल, नंबरदार ठाकुर वरिंदर सिंह विक्की, सरपंच अवतार सिंह डडवां झिकली, संजीव ठाकुर, बब्बू ठाकुर, योगेश ठाकुर, कंवर राकेश्वर सिंह, सुरिंदर कटोच, बलदेव पठानिया, शक्ति सिंह, राणा संत सिंह, आशू राणा, अनिल ठाकुर, डी.एस राणा, सोनी राणा, रविंद्र पठानिया, रणधीर परमार, पूर्व सरपंच ठाकुर पवन सिंह कहनूवान, लकी ठाकुर, पुष्पिंदर पठानिया, कुलबीर पठानिया, कैप्टन देस राज, हेमंत कुमार, सूबेदार सुदर्शन सलारिया, ठाकुर रछपाल सिंह बिल्लू, डॉ. योध सिंह, मुकेश पठानिया, ठाकुर ध्रुव सिंह, मनु ठाकुर, रिशु ठाकुर, अनिल कटोच, सुरजीत सीता, सोम सिंह, नवीन सिंह, अशोक जसरोटिया, हरदीप जसरोटिया, अवास राजा, बलविंदर सिंह आदि उपस्थित थे।
बलिदानों से भरा है क्षत्रियों का गौरवशाली इतिहास : चाडक़
ठाकुर गुलचैन सिंह चाडक़ ने कहा कि क्षत्रिय कौम का गौरवशाली इतिहास बलिदानों से भरा पड़ा है देश की सुरक्षा को जब भी खतरा पैदा हुआ इस देशभक्त कौम ने अपने प्राणों की आहुति देकर देश की एकता व अखंडता को बरकरार रखा है। आज समय की पुकार है कि हम सब संगठित होकर आदर्श समाज की सृजना में अपना योगदान देते हुए देश की भावी पीढ़ी को अपने गौरवशाली इतिहास के बारे में जागरूक करवाएं।
संगठित कौमें ही लोकतंत्र में निभाती हैं निर्णायक भूमिका : सलारिया/बब्बू
सलारिया जनसेवा फाउंडेशन के चेयरमैन स्वर्ण सलारिया व पूर्व डिप्टी स्पीकर ठाकुर दिनेश सिंह बब्बू ने कहा कि अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा पंजाब के इस अधिवेशन में आकर वे खुद को गौरवाविंत महसूस कर रहे हैं तथा राजनीति से ऊपर उठकर अपने परिवार के साथ बैठकर जो मान-सम्मान महसूस होता है वो अन्य कहीं नहीं मिलता। उक्त नेताओं संगठन पर बल देते हुए कहा कि संगठित कौमें ही लोकतंत्र में निर्णायक भूमिका निभाती हैं इसलिए आज समय की पुकार है कि हम सभ संगठित होकर अपने अधिकारों के प्रति जागरूक हों और आप बेशक जिस भी राजनीतिक पार्टी से जुड़े हों जब भी राजपूत समाज की इस तरह की कोई बैठक हो सबको आपसी मतभेद भुला एक मंच पर एकत्रित हो अपनी एकता का सबूत देना चाहिए। स्वर्ण सलारिया ने कहा कि जो भी उनकी सलारिया जनसेवा फाउंडेशन का सदस्य बनेगा उनके हॉस्पिटल में उनका व उनके परिवार का इलाज बिल्कुल मुफ्त किया जाएगा।
राष्ट्र को बनाने में क्षत्रियों का बहुमूल्य योगदान : दर्शी/डिंपल राणा
ठाकुर दविंदर सिंह दर्शी व डिंपल राणा ने कहा कि राष्ट्रभक्त कौम क्षत्रिय समाज के सभी वर्गों का दिल से सम्मान करती है। जब भी देश की सुरक्षा को खतरा पैदा हुआ इस कौम ने अपने त्याग व बलिदान से इतिहास के पन्नों को सुर्ख किया है और इस देश को बनाने में क्षत्रियों का बहुमूल्य योगदान है मगर अफसोस आजादी के बाद किसी भी राजनीतिक पार्टी ने क्षत्रिय समाज को उचित प्रतिनिधित्व नहीं दिया। उन्होंने कहा कि अपने संगठन को इतना मजबूत बनाएं कि आपको अपना राजनीतिक हक लेने के लिए लेने के लिए पार्टियों के पीछे न भागना पड़े और यह तभी संभव हो पाएगा जब हम सभी खुद को एकता की लड़ी में पिरोकर रखें। उक्त नेताओं ने कहा आने वाले लोकसभा चुनावों में जो भी राजनीतिक पार्टी राजपूतों को उचित प्रतिनिधित्व देगी सारा क्षत्रिय समाज उस पार्टी का सहयोग करेगा।
राजपूत कल्याण बोर्ड का गठन शीघ्र करे सरकार
ठाकुर दर्शी व डिंपल राणा ने कहा कि पंजाब में सरकार बने दो साल होने को हैं मगर अभी तक सरकार ने राजपूत कल्याण बोर्ड का गठन नहीं किया है। जबकि अन्य कई बोर्डों का गठन हो चुका है जिसे लेकर राजपूत बिरादरी में रोष है। इसलिए सरकार शीघ्र इस बोर्ड का गठन कर किसी राजपूत नेता को उसका चेयरमैन नियुक्त कर क्षत्रिय समाज की भावनाओं का सम्मान करे।
गोगामेड़ी के हत्यारों को फांसी देने का प्रस्ताव हुआ पारित
अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के अधिवेशन में समूह क्षत्रिय समाज द्वारा सर्वसम्मति से राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के हत्यारों को शीघ्र फांसी देने का प्रस्ताव पारित किया और सरकार से आह्वान किया कि इस केस का फैसला फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन कर शीघ्र किया जाए ताकि दोषियों को शीघ्र सजा मिल सके।
क्षत्रियों ने कभी देश व समाज को बांटने का प्रयास नहीं किया : कुंवर विक्की/बिट्टा काटल
कुंवर रविंद्र विक्की व बिट्टा काटल ने कहा कि इतिहास साक्षी है कि क्षत्रियों ने कभी देश व समाज को बांटने का प्रयास नहीं किया जब-जब भी किसी क्षत्रिय राजा ने इस देश पर हकूमत की है सारे देश में ठंडी हवाओं के झोंके चले हैं। हमारे प्रभु राम ने मां शबरी के जूठे बेर खाकर अपना क्षात्र धर्म निभाते हुए सबको यह संदेश दिया है कि उनके लिए सभी एक समान हैं। उन्होंने कहा कि जो समाज व देश अपनी संस्कृति व बलिदानों से भरे गौरवशाली इतिहास को भूल जाता है उसका अस्तित्व समाप्त हो जाता है।

Previous articleअविनाश राय खन्ना
Next articleबोले, विपक्ष की हालत चोर मचाये शोर वाली